PM मोदी का विरोध करने जा रहे पूर्व CM हरीश रावत, प्रीतम सिंह, इंदिरा हृदयेश समेत सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ता गिरफ्तार

हल्द्वानी/देहरादून। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी का विरोध करने रुद्रपुर जा रहे पूर्व मुख्‍यमंत्री व कांग्रेस के राष्‍ट्रीय महासचिव हरीश रावत, PCC अध्यक्ष प्रीतम सिंह और नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश समेत सैकड़ों कार्यकर्ताओं को प्रशासन ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने बस के अंदर से ही काली जैकेट लहराई और कहा कि चैकीदार चोर है। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने कहा कि नोटबंदी, जीएसटी, किसानों की कर्ज माफी और उत्तराखंड के लिए विशेश पैकेज सहित कई मसलों पर मोदी सरकार ने जनता के साथ छल किया है। मोदी सरकार ने सिर्फ घोषणा की, काम के नाम पर जनता को छला है। चुनावों के दौरान प्रधानमंत्री ने देश की जनता के साथ तमाम दावे किए, लेकिन चुनाव जीतने के बाद धरातल पर एक काम भी नहीं दिखा। जनता बीजेपी के मंसूबों को समझ चुकी है।

उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उत्तराखण्ड के हरिद्वार तथा उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में जहरीली शराब से हुए नर संहार पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा उत्तराखण्ड व उत्तर प्रदेश सरकारों की संवेदनहीता, 2017 के विधानसभा चुनाव में राज्य के किसानों से की गई कर्ज माॅफी व गन्ना किसानो ंके बकाये भुगतान की वादाखिलाफी तथा राफेल लडाकू विमान खरीद में करोडों रूपये के भ्रष्टाचार व बेरोजगारों के भविष्य के साथ किये गये खिलवाड़ के विरोध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के उत्तराखण्ड आगमन पर रूद्रपुर में काले झण्डे दिखा कर विरोध प्रदर्शन किया।   प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि उत्तराखण्ड में हरिद्वार तथा उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में जहरीली शराब से लगभग 150 से अधिक लोगों की असमय मौत हो गई परन्तु प्रधानमंत्री ने इस पर संवेदना का एक शब्द भी नहीं कहा तथा उत्तराखण्ड व उत्तर प्रदेश सरकारें भी संवेदनहीन बनी रहीं। उत्तर प्रदेश तथा उत्तराखण्ड दोनों राज्य सरकारों अकर्मण्यता के कारण इतना बड़ा नरसंहार हुआ। उन्होंने कहा कि 2017 के विधानसभा चुनाव में नरेन्द्र मोदी ने अपनी प्रत्येक चुनावी सभाओं में राज्य के किसानों से वादा किया था कि प्रदेश के सभी किसानों का कर्ज माफ किया जायेगा तथा गन्ना किसानों के बकाये का 15 दिन के अन्दर भुगतान किया जायेगा। आज राज्य की भाजपा सरकार को दो साल होने को हैं परन्तु अभी तक न तो किसानों का कर्ज माॅफ हुआ है और न ही गन्ना किसानों के बकाये का भुगतान हो पाया है तथा किसान दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं। विरोध प्रदर्शन के लिए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह, नेता प्रतिपक्ष डाॅ0 इन्दिरा हृदयेश, पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, उपनेता प्रतिपक्ष करण महरा, विधायक गोविन्द सिंह कुंजवाल, आदेश चैहान, हरीश धामी, फुरकान अहमद, प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना, पूर्व सांसद के.सी. सिंह बाबा, महेन्द्र पाल सिंह, पूर्व विधायक विक्रम सिंह नेगी, मंत्री प्रसाद नैथानी, हरीश चन्द्र दुर्गापाल, अनुसूया प्रसाद मैखुरी, महिला अध्यक्ष सरिता आर्य, अल्पसंख्यक अध्यक्ष ताहिर अली, जय सिंह गौतम के साथ ही सभी जिला कंाग्रेस कमेटी के अध्यक्षों सहित 2250 कंाग्रेस कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी, जिन्हें गदरपुर तहसील लाया गया जहां पर रिहा किया गया।

इस दौरान  पूर्व सांसद महेंद्र पाल, पूर्व मंत्राी हरीश दुर्गापाल, सूर्यकान्त ध्स्माना, नारायण पाल, सुमित हृदयेश, पूर्व सांसद केसी सिंह बाबा, पूर्व मंत्राी मंत्राी प्रसाद नैथानी,विनोद कोरंगा, महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्या, युकां प्रदेश अध्यक्ष विक्रम सिंह, विधयक आदेश चैहान, पूर्व विधयक हेमेश खर्कवाल, हेमंत बगडवाल, सरवर यार खां, सीपी शर्मा, दर्शन कोली, भुवन कापड़ी, मेजर सिंह, हरीश बावरा, हिमांशु गाबा, जगदीश तनेजा, मीना शर्मा, अनिल शर्मा, पवन वर्मा, राजीव कामरा, सुरेश गौरी, नारायण बिष्ट, संजय जुनेजा, हरीश अरोरा, पुष्कर राज जैन, गणेश उपाध्याय, हरीश पनेरू, विमला सांगुड़ी, ख्रष्टी बिष्ट, बबिता, आशा टम्टा, ममता हालदार, इंद्रजीत सिंह, विजय सुखीजा, बाबू खान, मोनू निषाद, संदीप चीमा, सौरभ चिलाना, सुशील गाबा, नदीम खां, साबिर अहमद, हरीश जोशी, परवेज अहमद सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे।

————————————————–

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*