आईएएस आनंदबर्धन  मामले की सूचना में संयुक्त सचिव ने अनु सचिव को लगाई फटकार: मोर्चा 

 -आनंदबर्धन द्वारा की गई थी न्यायालय की शान में गुस्ताखी

-मुख्य सचिव के निर्देश पर गतिमान है कार्रवाई 

-सिंचाई कर्मियों के पेंशन से संबंधित था मामला 

   -सूचना उपलब्ध कराने को लेकर कर रहे थे  गुमराह 

 विकासनगर| जन संघर्ष मोर्चा के जिला मीडिया प्रभारी प्रवीण शर्मा  पिन्नी ने कहा कि प्रमुख सचिव सिंचाई आनंदबर्धन (आई.ए.एस.)द्वारा  सेवानिवृत सिंचाई कर्मचारियों की पेंशन प्रकरण पर उच्च न्यायालय एवं सर्वोच्च न्यायालय के द्वारा आदेशित कार्रवाई विषयक शासन की नोट शीट पर न्यायालय के संबोधन में कहीं भी सम्मान स्वरूप ‘माननीय’  शब्द का इस्तेमाल नहीं किया गया यानि इनके द्वारा गुरुर में आकर इतनी भारी भूल कर दी गई, जिससेन्यायालय की शान में गुस्ताखी हुई |

उक्त मामले में मोर्चा के अध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी द्वारा मुख्य सचिव से इनके खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह किया गया था तथा उक्त के क्रम में आनंद बर्धन के खिलाफ कार्रवाई गतिमान थी | उक्त कार्रवाई से संबंधित सूचना चाहने हेतु प्रवीण शर्मा पिन्नी, जिला मीडिया प्रभारी, जन संघर्ष मोर्चा द्वारा अनु सचिव, कार्मिक एवं सतर्कता विभाग से सूचना चाही गई थी कि आईएएस के खिलाफ क्या कार्रवाई हुई तथा उसकी सूचना उपलब्ध कराएं, लेकिन लोक सूचना अधिकारी द्वारा यह कहकर गुमराह किया गया कि “पत्रावली उच्च स्तर पर गतिमान है” यानी इनके द्वारा सूचना अधि.अधि. का निरादर किया गया I उक्त मामले के खिलाफ शासन के संयुक्त सचिव से अपील पर कार्रवाई करने हेतु आग्रह किया गया, जिसमें संयुक्त सचिव ने अनु सचिव को भविष्य के लिए सचेत/ फटकार लगाते हुए सूचना अधिकार अधिनियम कि सुसंगत धाराओं के तहत कार्य करने के निर्देश दिए |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*