नेपाल के उप-प्रधानमंत्री का पतंजलि पहुँचने पर हुआ भव्य स्वागत

-नेपाल में पतंजलि की योग व आयुर्वेदपरक गतिविधियाँ ले रही हैं विस्तारः उपप्रधानमंत्री नेपाल
हरिद्वार। योग और आयुर्वेद क्षेत्र में पतंजलि योगपीठ का परचम राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर फहर रहा है। यही कारण है कि देश-विदेश के खास लोगों का पतंजलि में आवागमन रहता है। इसी क्रम में आज पतंजलि योगपीठ में नेपाल के उप-प्रधानमंत्री उपेन्द्र यादव जी पदार्पण हुआ। पतंजलि योगपीठ पहुँचने पर पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी महाराज ने उप-प्रधानमंत्री  को पुष्पगुच्छ भेंट कर भव्य स्वागत किया। इस अवसर पर नेपाल के माननीय उप-प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत और नेपाल दोस्ती की मिसाल हैं। भारत संसार का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है और नेपाल भी लोकतांत्रिक प्रणाली के अंतर्गत आ गया है। उन्होंनेे कहा कि नेपाल सदैव भारत के साथ एक मित्र देश के रूप में खड़ा रहेगा। योग और आयुर्वेद पर पूज्य आचार्य जी से विशद वार्ता करते हुए उप-प्रधानमंत्री महोदय ने कहा कि पतंजलि योगपीठ योग और आयुर्वेद को पूरे विश्व में विस्तार दे रहा है। नेपाल में योग और आयुर्वेद का जो बीजारोपण पतंजलि योगपीठ के माध्यम से किया गया था, अब उसकी शाखाएँ विस्तार ले चुकी हैं तथा अब यह पुष्पित-पल्लवित हो गया है।
पतंजलि योगपीठ के भ्रमण करने के पश्चात श्री यादव ने कहा कि पूज्य योगऋषि स्वामी रामदेवजी महाराज तथा पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी महाराज के अथक परिश्रम से योग व आयुर्वेद के प्रचार-प्रसार का अविश्वसनीय कार्य हो सका है। उन्होंने कहा कि नेपाल में आयुर्वेद के क्षेत्र में बहुत कार्य करने शेष हैं। नेपाल में भी जड़ी-बूटियों का अकूत भण्डार है। पतंजलि योगपीठ आयुर्वेद के क्षेत्र में नेपाल की भरपूर मदद कर मदद कर सकता है। उप-प्रधानमंत्री महोदय दिव्य योग मंदिर ट्रस्ट, पतंजलि योगपीठ तथा पतंजलि ग्रामोद्योग से सम्बद्ध समस्त प्रकल्पों का भ्रमण कर आविर्भूत हुए तथा पतंजलि के प्रबंधन प्रणाली तथा आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर की भूरि-भूरि प्रसंशा की। श्री यादव ने पूज्य स्वामी रामदेव जी महाराज ने भेंटवार्ता कर कहा कि पूज्य स्वामी रामदेव जी महाराज के दिशा निर्देशन में पतंजलि योगपीठ मानवता तथा आरोग्यता के लिए बड़ा कार्य कर रही है जो प्रसंशनीय है।
इस अवसर पर पूज्य स्वामी रामदेव जी महाराज ने कहा कि नेपाल भौगोलिक-सीमाओं से अलग राष्ट्र होते हुये भी उसके-हमारे आपसी संबंध भाई-भाई की तरह है। नेपाल में पतंजलि की सेवापरक गतिविधियाँ निरन्तर गतिमान रहेंगी। इस अवसर पर ट्रस्ट के महामंत्री पूज्य आचार्य बालकृष्णजी महाराज ने कहा कि नेपाल के उप-प्रधानमंत्री उपेन्द्र यादव का यह दौरा भारतीय परम्परा, संस्कृति, स्वास्थ्यप्रद गतिविधियों तथा आयुर्वेद के संवर्धन में सार्थक सिद्ध होगा। आचार्य जी ने कहा कि नेपाल में योग, आयुर्वेद के प्रचार-प्रसार तथा संवर्धन के लिए नेपाल की सरकार का भरपूर सहयोग मिल रहा है। नेपाल में जड़ी-बूटीयों के प्रसंस्करण से नेपाल में जन साधारण को न केवल स्वास्थ्य लाभ मिलेगा अपितु उनकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा। स्वागत समारोह में शहरी विकास मंत्री, उत्तराखण्ड मदन कौशिक, पतंजलि विश्वविद्यालय के प्रति-कुलपति महावीर जी, रजिस्ट्रार महोदया प्रवीण पुनिया, स्वामी परमार्थ देव आदि उपस्थित रहे।
——————————————————————-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*