विधायक मनोज रावत पर जानलेवा हमला, पेट्रोल डालकर जलाने की कोशिश

रुद्रप्रयाग। केदारनाथ विधायक मनोज रावत पर एक व्यक्ति द्वारा जानलेवा हमला करने का प्रयास किया गया। विधायक गनर और ग्रामीणों ने विधायक को बचाया, अन्यथा बडी घटना हो सकती थी। दरअसल, शुक्रवार को केदारनाथ विधानसभा के विधायक मनोज रावत क्षेत्र भ्रमण पर जा रहे थे। उन्होंने इंटर कॉलेज बाड़व का औचक निरीक्षण करना था। इस बीच क्यूंजा घाटी के कांदी में विधायक मनोज रावत पर शराब के नशे में चूर जीतपाल राणा पुत्र जयबीर राणा और उसके दो अन्य साथियों ने जानलेवा हमला किया। हद तो तब हो गई जब आरोपियों द्वारा विद्यायक पर पेट्रोल डालकर आग लगाने की कोशिश की गई। गनीमत रही की विधायक के गनर और ग्रामीणों ने बीच बचाव किया। बताया जा रहा है कि आरोपी का पूरे क्षेत्र में आतंक है। दारू पीकर आरोपी द्वारा अक्सर किसी न किसी से मारपीट और झगड़े करने के मामले आते रहते हैं। पुलिस आरोपी की ढूंढखोज में जुट गई है। पुलिस उपाधीक्षक गणेश लाल कोहली ने बताया कि विधायक मनोज रावत की शिकायत पर आरोपी की ढूंढखोज के लिए पुलिस टीमें मौके पर पहुंच गई हैं। आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष  प्रीतम सिंह ने केदारनाथ विधायक मनोज रावत पर हुए जानलेवा हमले की कड़े शब्दों में निन्दा करते हुए राज्य की विगडती कानून व्यवस्था पर प्रश्न खड़ा किया है। प्रीतम सिंह ने केदारनाथ विधायक मनोज रावत पर हुए जानलेवा हमले तथा पेट्रोल डालकर जलाने की कोशिश को राज्य की ध्वस्त हो चुकी कानून व्यवस्था का जीता-जागता उदाहरण बताते हुए कहा कि भयमुक्त सरकार के अपने वायदे पर अमल करने में भाजपा सरकार पूरी तरह नाकाम रही है। भाजपा सरकार के शासनकाल में राज्य की कानून व्यवस्था पूर्ण रूप से चरमरा गई है। उन्होंने कहा कि भाजपा शासन में अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हो चुके हैं राज्य में अपराधी निरकुंष होकर अपराध कर रहे है। उन्होंने कहा कि इससे राज्य की बिगड़ती कानून व्यवस्था का अंदाजा लगाया जा सकता है कि जब एक विधायक पर सरेआम इस प्रकार का जानलेवा हमला हो रहा है तो आम जनता का क्या होगा।  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि शराब माफिया द्वारा एक जनप्रतिनिधि पर किये गये जानलेवा हमले ने राज्य में कानून व्यवस्था की पोल खोल दी है। भाजपा सरकार द्वारा सत्ता मंे आते ही शराब माफिया के साथ गठजोड़ कर देवभूमि उत्तराखण्ड में घर-घर शराब पहुंचाने का काम किया है राज्य सरकार की आबकारी नीति पूर्ण रूप से शराब माफिया को संरक्षण देने, शराब की तस्करी को बढ़ावा देने वाली है। उन्होंने कहा कि प्रदेशभर में अवैध शराब का गोरख धन्धा फलफूल रहा है, पिछले दिनों देहरादून में हुए जहरीली शराब प्रकरण में भाजपा नेताओं व विभागीय अधिकारियों की संलिप्तता प्रमाणित हो चुकी है। राज्य में अपराध की घटनाओं में लगातार वृद्धि हुई है। भाजपा शासन में राज्य की जनता में भय का वातावरण व्याप्त है तथा आम आदमी अपने को असुरक्षित महसूस कर रहा है। प्रीतम सिंह ने कहा कि केदारनाथ विधायक मनोज रावत पर हुए जानलेवा हमले तथा राज्य की ध्वस्त हो चुकी कानून व्यवस्था के विरोध में कांग्रेस पार्टी दिनांक 9 नवम्बर को प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों में भाजपा सरकार का पुतला दहन करेगी। प्रीतम सिंह ने सरकार से श्री मनोज रावत पर हमला करने वालों की शीघ्र गिरफ्तारी तथा उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की भी मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*