लोकसभा चुनाव को लेकर मीडिया वर्कशाॅप का आयोजन

देहरादून। लोकसभा चुनाव को लेकर मीडिया वर्कशाॅप का आयोजन किया गया। वर्कशाॅप के दौरान मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने मीडिया को लोकतन्त्र का चैथा स्तम्भ बताते हुए कहा कि मीडिया निर्वाचन में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उन्होंने कहा कि मीडिया के माध्यम से अधिक से अधिक वोटिंग करवाने हेतु चलाए जा रहे जागरूकता कार्यक्रमों की जानकारी आमजन तक पहंुचायी जा सकती है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि सी-विजिल एप शुरू किया गया है, जिसके माध्यम से कोई भी व्यक्ति आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत कर सकता है। उन्होंने कहा कि 100 मिनट के अंदर उस शिकायत पर कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।
सौजन्या ने कहा कि वोटर हेल्प लाईन टोल फ्री नम्बर 1950 एवं वोटर हेल्प लाईन एप के माध्यम से निर्वाचन से सम्बन्धित सभी तरह की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। इस एप के माध्यम से कोई भी व्यक्ति, वोटर लिस्ट में नाम है या नहीं और यदि नहीं है, की जानकारी प्राप्त कर सकता है। इसके साथ ही मतदाता सूची में अपना नाम शामिल या परिवर्तित भी करवा सकता है। विज्ञापन अनुश्रवण समिति के सदस्य सुभाष गुप्ता ने पेड न्यूज से सम्बन्धित विभिन्न विषयों पर जानकारी दी। उन्होंने पेड न्यूज से होने वाले नुकसान और उन्हें पहचानने के तरीकों पर भी विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पेड न्यूज मतदाताओं को प्रभावित कर सकती है, जो लोकतन्त्र के लिए हानिकारक होती है। उन्होंने कहा कि इस पर नियन्त्रण के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा कठोर कदम उठाए गए हैं, जिनके फलस्वरूप पेड न्यूज पर काफी हद तक नियन्त्रण किया गया है। श्री गुप्ता ने पेड न्यूज को पहचानने एवं इसके उपरान्त की जाने वाली कार्यवाही एवं प्राविधानों की भी जानकारी दी।
स्वीप के राज्य समन्वयक असलम ने निर्वाचन आयोग द्वारा अधिक से अधिक मतदाताओं को मतदान के लिए जागरूक करने हेतु चलाए जा रहे अभियानों के विषय में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि वोटिंग प्रक्रिया को और पारदर्शी बनाए जाने के लिए राज्य में शत प्रतिशत वी.वी.पी.ए.टी. का प्रयोग किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि निर्वाचन से जुड़े अधिकारियों को दिव्यांगजनों की आवश्यकतानुसार साईन लेंग्वेज आदि की ट्रेनिंग दी गई है। श्री असलम ने बताया कि 31 जनवरी, 2019 तक राज्य में एक लाख सौलह हजार नये मतदाता जुड़े हैं, जिसमें 42 हजार से अधिक ऐसे नये मतदाता शामिल हैं जो पहली बार मतदान करेंगे। उन्होंने मीडिया से अनुरोध किया कि भारत निर्वाचन आयोग के प्रयासों की जानकारी को अधिक से अधिक प्रचारित करें ताकि मतदाता इनका लाभ उठा सकें। उप निदेशक सूचना नितिन उपाध्याय ने बताया कि निर्वाचन प्रक्रिया की कवरेज व इसके लिए मीडिया को जरूरी सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए भारत निर्वाचन आयोग की गाईडलाईन है। इसके साथ ही प्रेस काउंसिल आॅफ इंडिया की प्रिन्ट मीडिया एवं न्यूज ब्राॅडकास्टिंग स्टैंडर्ड अथाॅरिटी (एनबीएसए) द्वारा इलैक्ट्राॅनिक मीडिया के लिए गाईडलाईन है। उन्होंने कहा कि निर्वाचन में मीडिया एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। प्रिन्ट और इलैक्ट्राॅनिक मीडिया को किसी भी प्रकार की अफवाहों, आधारहीन अटकलबाजियों व गलत सूचनाओं से बचना चाहिए।
————————————————————

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*