128वीं जयन्ती पर बाबा साहेब अम्बेडकर को पुष्पांजलि अर्पित की

देहरादून। राष्ट्रीय सामाजिक न्याय कृति मंच (रजि.) के सदस्यों द्वारा भारतीय संविधान के निर्माता भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की 128वीं पावन जयन्ती के अवसर पर घंटाघर स्थित अम्बेडकर प्रतिमा पर उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन-स्मरण किया गया. इस अवसर पर अपने संबोधन में मंच के प्रदेश अध्यक्ष राव नसीम अहमद ने कहा कि संविधान निर्माता भारत रत्न डॉ. अम्बेडकर एक महान युगपुरूष, युगप्रवर्तक, भविष्यदृष्टा, समाज सुधारक और विचारक थे।
भारतीय राजनीति व सामाजिकता में उनकी महत्तवपूर्ण भूमिका और उनका योगदान अतुलनीय व अविस्मरणीय है। उन्होंने कहा कि आज बाबासाहेब अम्बेडकर जी की पावन जयन्ती पर समग्र वंचित वर्ग व दलित समाज की राजकीय व्यवस्था में आर्थिक, सामाजिक व राजनैेतिक भागीदारी सुनिश्चचित करने हुेतु चिंतन करने की अति आवश्यकता है.महान विचारक, युगप्रवर्तक व भविष्यदृष्टा भारत रत्न बाबासाहेब डाॅ. भीमराव अम्बेडकर की संकल्पना समाज के दबे, कुचले, शोषित, पीडित व अपेक्षित वर्ग को भारतीय राजनैेतिक व सामाजिक व्यवस्था में समरसता समान अवसर सुनिश्चित करानी थी वहीं दूसरी और आज कुछ स्वार्थी तत्व जातिवाद व आपसी वैमनश्य को और अधिक बढाघ् रहे हैं जो दुर्भाग्यजनक है। राष्ट्रीय सामाजिक न्याय कृति मंच का उद्देश्य हमेशा से ही दलित समाज व वंचित वर्ग को राजनीतिक व सामाजिक समरसता व बुनियादी सुविधायें देने हेतु संघर्षरत रहकर आवाज उठाना है। चाहे वो दलित वर्ग की शिक्षा, स्वास्थय, रोजगार की बात हो या फिर शासन-प्रशासन में उनकी भागीदारी की बात हो। कार्यक्रम में नवीन पिरशाली, उमा सिसौदिया, श्यामलाल नाथ सहित मंच के अनेक सदस्यगण उपस्थित रहे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*