सिंबल बांटने के दौरान भाजपाइयों में बबाल

रुड़की। टिकट बंटवारे के साथ ही रुड़की भाजपा में असंतुष्टों के तेवर तल्ख हैं। पार्टी को सबसे बड़ा झटका मेयर के टिकट के दावेदार रहे संजय अरोड़ा के बागी होकर बसपा से उम्मीदवार घोषित होने पर लगा। यही नहीं भाजपा को कई अन्य रूठों को मनाने के लिए भी एड़ी चोटी के जोर लगाने पड़ रहे हैं। रही सही कसर पार्षद प्रत्याशियों के सिंबल आवंटन के दौरान हुए धक्कामुक्की, गाली गलौज ने पूरी कर दी।
शुक्रवार को शहर विधायक प्रदीप बत्रा के कैंप कार्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में भाजपा के पार्षद प्रत्याशियों को सिंबल देने के लिए बुलाया गया था, लेकिन इस दौरान तीन महिलाओं समेत दर्जनभर दावेदारों ने हंगामा खड़ा कर दिया। यही नहीं प्रदेश उपाध्यक्ष विनय रोहिला के सामने एक महिला दावेदार ने आत्महत्या करने की धमकी दे डाली। बस फिर क्या था, दूसरे दावेदार भी खड़े हो गए। वहीं, जिन्हें टिकट मिला था और जो टिकट से वंचित रह गए थे, उनमें बहस शुरू हो गई। इस पर दावेदारों की नाराजगी सुनने के लिए विनय रोहिला ने उन्हें एक कमरे में बुला लिया तो वहां दूसरे पक्ष के लोग भी पहुंच गए और जमकर धक्कामुक्की व गालीगलौज शुरू हो गई। इसके बाद प्रदेश उपाध्यक्ष बिना सिंबल दिए ही गाड़ी में बैठकर जाने लगे तो विरोध कर रहे लोगों ने सड़क पर गाड़ी घेर ली और नीचे बैठ गए। वहां मारपीट की नौबत आई तो प्रदेश उपाध्यक्ष तुरंत गाड़ी से उतरकर वापस कार्यालय की तरफ दौड़ने लगे तो हंगामा कर रहे लोग भी पीछे-पीछे भागे। विधायक प्रदीप बत्रा और उनके समर्थकों ने प्रदेश उपाध्यक्ष को एक कमरे में बंद कर दिया और बाहर हंगामा होता रहा। पुलिस के पहुंचने के बाद प्रदेश उपाध्यक्ष वापस लौटे। इस दौरान उन्होंने नाराज लोगों से टिकट की समीक्षा करने का भी भरोसा दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*