सभी के लिए आवास एवं प्रधानमंत्री आवास योजना पर तेजी दिखायेंः कौशिक 

-मंत्री ने ली शहरी विकास विभाग की समीक्षा बैठक 
देहरादून। प्रदेश के शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने विधानसभा सभा कक्ष में शहरी विकास विभाग की समीक्षा बैठक की। बैठक में निर्देश दिया गया कि सभी के लिए आवास एवं प्रधानमंत्री आवास योजना पर तेजी दिखायें। लाभार्थियों आधारित निर्माण, भागीदारी में किफायती आवास, ऋण से जुड़े अनुदान एवं मलिन बस्ति पुनर्विकास योजना में 2022 तक 1 लाख 4 हजार आवास निर्मित किये जाने का लक्ष्य है। 
लाभार्थियों आधारित आवास निर्माण में 20 हजार 7 सौ 67 आवेदन पर 12 हजार 7 सौ 45 स्वीकृत किया गया। भागीदारी में किफायती आवास में 38 हजार 7 सौ 66 आवेदन पर 13 हजार 1 सौ 80 आवेदन स्वीकृत किया गया। ऋण से जुड़े अनुदान 14 हजार 4 सौ 24 आवेदन में से 3 हजार 51 आवेदन स्वीकृत किया गया। इसके अतिरिक्त ऋण से जुड़े अनुदान अभी तक कुल 28 हजार 9 सौ 76 आवास की उपलब्धि प्राप्त हुई है। इस सम्बन्ध में निर्देश दिया गया है कि बैंकर्स की समन्वय बैठक बुला कर कार्य में तेजी लाई जाए। बैठक में बताया गया कि अन्य राज्यों की तुलना में उत्तराखण्ड की स्थिति अच्छी है। समग्र रूप से कुल लगभग 29 हजार आवास का लक्ष्य प्राप्त कर लिया गया है। 
नगरी क्षेत्र में स्वरोजगार कार्यक्रम के अन्तर्गत आजीविका सवंर्धन हेतु व्यक्तिगत स्तर पर 7 प्रतिशत की दर से 2 लाख रू0 तक एवं सामूहिक स्तर पर 7 प्रतिशत समूह की दर से अधिकतम 10 लाख रू0 का ऋण उपलब्ध कराया जायेगा। इसके अतरिक्त महिला समूहों को 3 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट दी जायेगी। इस सम्बन्ध में शीघ्र कार्य योजना बनाने के निर्देश दिये गये तथा कहा गया कि स्वयं सहायत की सूची तैयार कर देहरादून में मुख्यमंत्री की उपस्थिति में एक कार्यक्रम भी किया जाए। शहरी फेरी व्यवसाय वैंडिंग जोन, वैंडिंग ग्रुप कार्य योजना के सम्बन्ध में निर्देश दिया गया कि आजीविका सुरक्षा तथा फेरी व्यवसाय विनियामवली के आधार पर कार्य किया जाए। इसके लिए एक समिति के आधार पर वैंडर्स और वैंडिंग जोन का चिन्हींकरण कर लिया जाए, तथा आर्थिक सहायता हेतु लाभार्थी के चयन हेतु सर्वे करा लिया जाए। कौशल विकास प्लेसमेंट द्वारा रोजगार उपलब्ध कराने के लिए एजेंसी चयन करने के लिए एक बैठक कर ली जाए। स्वच्छता के सम्बन्ध में व्यापक प्रचार-प्रसार पर भी बल दिया जाए। इस अवसर पर सचिव नगर विकास शैलेश बगोली, निदेशक शहरी विकास चन्द्रेश यादव, अपर निदेशक शहरी विकास यू.डी.राणा, अधीक्षण अभियन्ता नगर विकास रवि पाण्डेय इत्यादि मौजूद थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*