शहीद गजेन्द्र सिंह बिष्ट द्वार का लोकार्पण एवं अनुसुया प्रसाद द्वार का शिलान्यास किया

देहरादून। हमले में शहीद हुए 10 पैरा रैजीमेंट के वीर योद्वा शहीद गजेन्द्र सिंह बिष्ट के नाम से शिमला बाईपास रोड़ एवं भारत पाकिस्तान युद्व में शहीद हुए 10 महार रैजीमेंट के अनुसुया प्रसाद के नाम से भाऊवाला में शहीद द्वार बनाये गये हैं। इन शहीद द्वारों का निर्माण हंस फाउंडेशन द्वारा कराया जा रहा है। शहीद गजेन्द्र सिंह बिष्ट को मरणोपरान्त अशोक चक्र एवं शहीद अनुसुया प्रसाद को मरणोपरान्त महावीर चक्र से नवाजा गया।
        हंस फाउंडेशन की संस्थापक माताश्री मंगला ने अपने सम्बोधन में कहा कि शहादत की दुख को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है। उन्होनें कहा कि जीवन में सुख और दुख आता-जाता है किन्तु अपने पति या पुत्र की शहादत का दुख असहनीय होता है। उन्होनें कहा कि उत्तराखण्ड सैनिक बाहुल्य प्रदेश है और यहां के प्रत्येक परिवार का व्यक्ति भारत की रक्षा के लिए सीमाओं पर अपनी सेवाऐं देता है। उन्होनें कहा कि सरकारों कितना भी सहयोग करें किन्तु हम शहीद हुए बेटों, भाईयों को वापस नहीं ला सकते। उन्होनें कहा कि शहीद द्वार बनाने का सम्बन्ध शहीद की याद को जिंदा रखने से है। उन्होनें बताया कि उनके पिता भी तत्कालीन भारतीय ऐअरलाइंस में कार्यरत थे एवं उन्होनें वर्ष 1971 में अफगानिस्तान में कई आतंकवादियों के छक्के छुड़ाये थे। इसी को देखते हुए तत्कालीन भारत के राष्ट्रपति ने उन्हें शौर्य चक्र से नवाजा।
         माता मंगला ने बताया कि हंस फाउंडेशन शिक्षा एवं स्वास्थ्य के लिए बढ़-चढ़कर काम चल रहा है। कहा कि हंस जी महाराज और माता राज राजेश्वरी देवी ने हमें यह शिक्षा दी कि हमारे एक निवाले में से आधा निवाला किसी भूखे का पेट भर सकता है। बताया कि 2009 से प्रारम्भ हुई यह संस्था देश के 28 राज्यों में अपनी सेवाऐं दे रहा है। मसूरी विधायक गणेश जोशी ने माता मंगला का आभार प्रकट करते हुए समाज के प्रति उनके समर्पण भाव को नमन किया। उन्होनें कहा कि मैंने सेना में रहकर शहादत की पीड़ा को स्पर्श किया है। उन्होनें माता मंगला का आभार प्रकट करते हुए कहा कि हंस फाउंडेशन के सहयोग से देहरादून में 10वें शहीद द्वार का निर्माण होने जा रहा है। उन्होनें तेलपुरा एवं सेलाकुई के दो अमर शहीदों क्रमशः संदीप सिंह एवं नरेन्द्र बिष्ट के नाम पर शहीद द्वार बनाये जाने की मांग माता मंगला से की। उन्होनें बताया कि हंस फाउंडेशन द्वारा पूर्वोत्तर क्षेत्र में कई हजार गरीब कन्याओं का विवाह करवाया है। उन्होनें कहा कि प्रत्येक देशवासियों का कर्तव्य है कि वह देश की रक्षा के लिए आगे आए।
             कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे सहसपुर विधायक सहदेव सिंह पुण्डीर ने हंस फाउंडेशन द्वारा किये जा रहे कार्यो की सराहना की। उन्होनें कहा कि जनहित के कार्यो से संस्था पुण्य का कार्य कर रही है। कार्यक्रम में महावीर चक्र से अलंकृत वीर शहीद अनुसुया प्रसाद की वीरांगना चित्रा देवी एवं अशोक चक्र से अलंकृत वीर शहीद गजेन्द्र सिंह बिष्ट की वीरांगना विनीता बिष्ट को माता मंगला एवं विधायक जोशी ने पुष्पगुच्छ एवं शॉल देकर सम्मानित भी किया। इस अवसर पर भोले जी महाराज, गौरव सैनानी सैनिक एवं पूर्व सैनिक एसोसियेशन के अध्यक्ष महावीर सिंह राणा, विपिन गौड़, मनवर सिंह रौथाण, विनोद चमोली, कपिल शाह, मनोज जोशी, सिकन्दर सिंह, बृजेश सिंह, गिरीश जोशी, रणवीर सिंह, नितिन जोशी, राजेन्द्र कण्डारी, ललित मोहन, रमन सिंह नेगी, जगमोहन सिंह व बलवीर कण्डारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*