वीर चंद्र सिंह गढ़वाली को भारत रत्न देने की मांग

कोटद्वार। चिन्हित राज्य आंदोलनकारी समिति और कांग्रेस सेवा दल के संयुक्त तत्वाधान में हरिद्वार से कोटद्वार तक तिरंगा यात्रा निकाल कर वीर चंद्र सिंह गढ़वाली को भारत रत्न देने की मांग की गई। इसके अलावा गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाने की मांग करते हुए राज्यपाल को ज्ञापन भी प्रेषित किया गया। देर शाम को चिन्हित राज्य आंदोलनकारी समिति और कांग्रेस सेवा दल के कार्यकर्ता हरिद्वार से लालढांग चिल्लरखाल होते हुए कोटद्वार तहसील परिसर पहुंचे। इसके बाद वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली की प्रतिमा को गंगाजल से स्नान कराया गया। इस मौके पर उत्तराखण्ड सेवा दल के मुख्य संरक्षक राजेश रस्तौगी ने कहा कि जन्म से ही उत्तराखण्ड राज्य को स्थाई राजधानी नहीं मिल पाई है, राजधानी के मामले में देश की भारतीय जनता पार्टी उत्तराखण्ड राज्य के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। यह राज्य का दुर्भाग्य है कि उत्तराखण्ड राज्य के नौजवानों को कुर्बानियों के बावजूद भी आज तक प्रदेश को स्थाई राजधानी नहीं मिल पाई है। उन्होंने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में उत्तराखण्ड व देश की भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने राज्य में बहुमत की सरकार बनने पर गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाने का आश्वासन प्रदेश की जनता को दिया था, लेकिन वर्तमान समय में डबल इंजन की मजबूत सरकार भी आज तक राज्य को स्थाई राजधानी नहीं दे पाई है। इस मौके पर लालजी भाई देसाई अध्यक्ष अखिल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस सेवाल दल, चिन्हित राज्य आंदोलनकारी समिति के केन्द्रीय अध्यक्ष जेपी पाण्डेय, कार्यक्रम के संयोजक पूर्वघ्राज्य मंत्री जसवीर राणा, सेवादल अध्यक्ष राकेश शर्मा, महानगर अध्यक्ष संजय मित्तल, महिला कांग्रेस अध्यक्ष रंजना रावत, राजेन्द्र दुर्गापाल, मनमोहन शर्मा, तेजपाल पटवाल, सावित्री थापा, किशन पंवार, अजय पंत, भानुप्रकाश बलोदी, प्रमोद राणा, अंकुर भंडारी, मधु नौटियाल, विजय मेहरा, दलबीर सिंह, अतुल नेगी, श्रीधर वेदवाल, विनोद रावत, राम सिंह सैनी, हिम्मत नेगी, मनमोहन नेगी, मनमोहन असवाल, सुल्तान अहमद, बार संघ के अध्यक्ष किशन सिंह पंवार आदि उपस्थित रहे।
/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*