रापूमा विद्यालय देहरा राजपुर रोड के 167 छात्रों को धर्मपुर बोर्डिंग स्कूल में शिफ्ट किया जाएगा 

-डीएम ने धर्मपुर में निर्माणाधीन बोर्डिंग स्कूल का किया निरीक्षण
देहरादून। राज्य के अपवंचित, बेसहारा एवं अनाथ बच्चों की शिक्षा के लिए राजकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय देहरा, 55 राजपुर रोड के अवासीय छात्रावास में अध्ययनरत् 6 से 14 आयु वर्ष के 167 बालकों के लिए धर्मपुर में बोर्डिंग स्कूल संचालित किया जायेगा। जिलाधिकारी एस.ए मुरूगेशन द्वारा आज धर्मपुर में बनाये जा रहे छात्रावास का स्थलीय निरीक्षण कर विद्यालय के निर्माण कार्यों का जायजा लिया। 
निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने विद्यालय के प्रधानाचार्य को निर्देशित किया कि छात्रावास में निवास करने वाले बालकों के लिए किचन, डाईनिंगरूम, बाथरूम, शौचालय आदि व्यवस्थाएं समय रहते पूरे करा लिए जायं। उन्होंने छात्रावास में बन रहे विभिन्न कक्षों का भी निरीक्षण किया तथा छात्रावास की चाहरदीवारी को कम से कम 9 फीट ऊचां करने के निर्देश दिये। उन्होंने बालकों के शयन हेतु बनाये जा रहे कक्षों का निरीक्षण किया तथा प्रधानाचार्य को निर्देशित  किया कि अभी 100 बालकों के शयन की व्यवस्था करें तथा प्रत्येक शयन कक्षों में अंतराल भी रखें। उन्होंने स्नानघर एवं शौचालयों के रास्तों को सही करायें तथा जाली लगवायें। उन्होंने विद्यालय में सुरक्षा व्यवस्था करने के निर्देश भी दिये।
निरीक्षण के दौरान प्रधानाचार्य ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि आगामी 10 फरवरी को बालकों का शिफ्टिंग धर्मपुर के लिए कराया जायेगा तथा बालिकाओं की व्यवस्था पूर्ववत रहेगी। उन्होंने बताया कि सामाजिक सहभागिता, सहायता से छात्रावास को विकसित किया जा रहा है। उन्होंने छात्रावास में चलाये जा रहे निर्माण कार्यों में आ रहे गतिरोध की जानकारी भी दी। उन्होंने बताया कि राजपुर छात्रावास में 270 बच्चे अध्ययनरत् हंै, जिनमें 103 बालिका तथा 167 बालक अध्ययनरत् हैं इनमें से लड़कों को शिफ्टिंग कराये जाने के निर्देशों के परिपालन में धर्मपुर स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय में नव निर्माण चलाया जा रहा है। वर्तमान में जनपद चम्पावत को छोड़कर अन्य सभी जनपदों के बालक/बालिकाएं छात्रावास में रह रहे हंै। निरीक्षण के दौरान वोर्डिंग स्कूल के प्रधानाचार्य हुकुम सिंह उनियाल, जिला शिक्षा अधिकारी बेसिक आर.एस रावत, राजकीय प्राथमिक विद्यालय की प्रधानाध्यापिका उषा पंवार सहित विद्यालय की अन्य अध्यापिकाएं उपस्थित थी।
————————————————-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*