राजकीय सम्मान के साथ दी गई परिपूर्णानंद पैन्यूली को अंतिम विदाई, बेटियों ने दी मुखाग्नि

-बेटी विजयश्री, राजश्री, इंदिरा और तृप्ति ने मुखाग्नि दी

देहरादून। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और पूर्व सांसद परिपूर्णानन्द पैन्यूली को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। पैन्यूली की विदाई यात्रा में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत समेत कई जनप्रतिनिधियों और प्रशासनिक अधिकारियों ने भाग लिया। हरिद्वार में खड़खड़ी घाट पर उनकी बेटी विजयश्री, राजश्री, इंदिरा और तृप्ति ने मुखाग्नि दी।
अंतिम संस्कार यात्रा के पहले पूर्व सांसद पैन्यूली के पार्थिव शरीर को वसंतविहार स्थित निवास पर अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। जहां परिजनों के अलावा शहर के नागरिकों ने पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। इसके बाद पुलिस और प्रशासन ने उनकी पार्थिव देह को तिरंगे झंडे से लपेट कर राजकीय सम्मान दिया। इस मौके पर पुलिस ने गार्ड ऑफ ऑनर से सलामी दी। इसके बाद अंतिम यात्रा हरिद्वार को रवाना हुई। अंतिम यात्रा में बड़ी संख्या में महिला और पुरुष शामिल हुए। जहां खड़खड़ी घाट पर गंगा तट पर अंतिम संस्कार किया गया। मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि पैन्यूली ने समाज और देश के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया। उन्होंने कहा कि हमने स्वतंत्रता संग्राम के एक पुरोधा को खो दिया है।

—————————————————-

सीएम ने पूर्व सांसद परिपूर्णानंद पैन्यूली के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित किए
देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रविवार को बसंत विहार, देहरादून में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं पूर्व सांसद परिपूर्णानंद पैन्यूली के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित किये। मुख्यमंत्री ने कहा कि परिपूर्णानंद पैन्यूली ने देश की आजादी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। एक प्रखर वक्ता के साथ ही उन्होंने साहित्य व पत्रकारिता के क्षेत्र में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया। आजादी के बाद उन्होंने सामाजिक चेतना के क्षेत्र में भी अनेक कार्य किये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*