पर्सनल लोन के भुगतान की समय-सीमा के बारे में जानिए, ताकि आप सोच समझकर निर्णय ले सकें

 

पुणे, महाराष्ट्र। बजाज फिनसर्व की ऋण देने वाली शाखा, बजाज फाइनैंस लिमिटेड बेहद किफायती तरीके से personal loans प्रदान करता है, जिसका उपयोग किसी बड़े मद पर होने वाले व्यय के साथ-साथ अन्य जरूरतों को पूरा करने के लिए किया जा सकता है। बिना सिक्योरिटी के दिया जाने वाला यह लोन न केवल आसानी से उपलब्ध है, बल्कि यह लोन के तौर पर पर्याप्त धनराशि भी प्रदान करता है, जिसकी मदद से ज्यादातर जरूरतों को पूरा किया जा सकता है। इसके अलावा, कलैटरल से मुक्त होने के कारण इस लोन को तुरंत मंजूरी मिल जाती है और इसका वितरण भी शीघ्र किया जाता है, जिससे यह आपातकालीन समस्याओं से जूझ रहे ग्राहकों के लिए भी एक व्यवहार्य विकल्प बन जाता है।

हालांकि, जरूरत चाहे कैसी भी हो, लोन लेने वाले ग्राहकों को इसके पुनर्भुगतान की समय-सीमा पर अच्छी तरह विचार करना चाहिए, क्योंकि यह सीधे तौर पर ब्याज के रूप में आपके द्वारा किए जाने वाले खर्च से जुड़ा है। स्वाभाविक रूप से, ब्याज जितना अधिक होगा लोन भी उतना ही महंगा होगा, और इसलिए इनके बीच सही संतुलन बनाने का तरीका जानना बेहद महत्वपूर्ण है।

लोन लेने से पहले पुनर्भुगतान की समय-सीमा तय कर लें

लोन लेने की योजना बनाते समय पुनर्भुगतान की समय-सीमा तय करना, आवश्यक धनराशि को सुनिश्चित करने की तरह ही महत्वपूर्ण है। लोन लेने वाले ग्राहकों को अपनी आर्थिक क्षमताओं का सावधानीपूर्वक आकलन करना चाहिए और फिर ऐसी किस्त तय करनी चाहिए, जिसका भुगतान आसानी से किया जा सके। आमतौर पर, सबसे अच्छा यही होता है कि ग्राहक यह सुनिश्चित करें कि उनके ऋण का पुनर्भुगतान उनकी आमदनी के 35% से अधिक न हो, क्योंकि इस तरह अन्य मासिक खर्चों को आराम से पूरा किया जा सकता है, साथ ही आपातकालीन निधि में भी थोड़ा-बहुत योगदान किया जा सकता है। इस धनराशि के बारे में सुव्यवस्थित तरीके से निर्णय लेने के लिए, ऋण लेने वाले ग्राहक personal loan EMI calculator का उपयोग कर सकते हैं। यह ऑनलाइन टूल निःशुल्क उपलब्ध है, जो ऋण लेने वाले ग्राहक के ऋण की राशि और भुगतान हेतु चयनित समयावधि के अनुसार EMIs की गणना करता है। स्लाइडर का उपयोग करके ग्राहक इनपुट बदल सकते हैं, तथा अपनी भुगतान क्षमता के अनुरूप EMI का पता लगा सकते हैं। ऋण का पुनर्भुगतान की समय-सीमा चाहे कम हो या ज्यादा, दोनों के अपने-अपने फायदे और नुकसान हैं, इसलिए ग्राहकों के लिए किसी भी समय-सीमा को तय करने से पहले इस जानकारी पर विचार करना महत्वपूर्ण है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*