धूमधाम से मनाया भगवान का जन्मोत्सव 

हरिद्वार। सनातन धर्म, संस्कृति एवं सामाजिक मर्यादा के संरक्षण एवं संवर्द्धन के लिए संकल्पित श्रीरामलीला कमेटी रजि. ने आज संतो के सानिध्य में मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान राम का जन्मोत्सव धूमधाम पूर्वक मनाया। श्रीरामलीला भवन में भजन और कीर्तन के साथ ही पंचामृत से भगवान राम का अभिषेक कर विश्व कल्याण के लिए मर्यादित आचरण वाले समाज निर्माण का संकल्प लिया।
श्रीराम जन्मोत्सव में मुख्य अतिथि के रूप में पधारे श्रीपंच दशनाम जूना अखाड़ा के सभापति श्रीमहंत प्रेमगिरी ने ‘‘नवमी तिथि मधुमास पुनीता‘‘ के उद्घोष के साथ भगवान राम के मर्यादित चरित्र के आदर्श प्रस्तुत करते हुए कहा कि भगवान राम ब्रहमाण्ड की अदृश्य शक्ति हैं जो विश्व का कल्याण करने के लिए प्रत्येक जीवात्मा में समाहित होकर उसे सत्कर्म की प्रेरणा देते हैं और श्रीरामलीला कमेटी रजि. उनके चरित्र का दर्शन एवं मनन कराने के लिए जो प्रयास करती है उसके लिए कमेटी के सभी पदाधिकारी साधुवाद के पात्र हैं। भगवान राम के बालरूप का पंचामृत से अभिषेक कर सनातन धर्म और संस्कृति के संवर्द्धन का उद्घोष करते हुए जूना अखाड़ा के महामंत्री श्रीमहंत केदारपुरी ने कहा कि सनातन धर्म समाज के लिए प्रेरणादायी पर्वो का गुलदस्ता है जिसका धर्म के साथ ही वैज्ञानिक महत्व भी है। नौ दिन की व्रत साधना और नवमी तिथि पर भगवान जन्मोत्सव से समाज में जिस नई ऊर्जा और कार्य संस्कृति का समावेश होता है उससे सम्पूर्ण सृष्टि में समृद्धि के द्वार खुल जाते हैं जिसे साधारण भाषा में व्यापारी बन्धु सीजन भी कहते हैं। श्रीरामलीला कमेटी की धर्म एवं समाज सेवाओं की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि हरिद्वार ही नहीं उत्तराखण्ड राज्य की यह पहली संस्था है जो भगवान राम के चरित्र एवं आदर्शो के प्रचार प्रसार के लिए समर्पित भावना से कार्य करती है।
श्रीरामलीला कमेटी रजि.के उच्च सदन सम्पत्ति कमेटी के अध्यक्ष गंगा शरण मदद्गार ने संत महापुरूषों का अभिनंदन करते हुए कहा कि श्रीरामलीला कमेटी पर संत और समाज दोनों की असीम कृपा है जो हमें मर्यादा-पुरूषोत्तम भगवान राम की सेवा करने की सामर्थ्य प्रदान करती है सभी देशवासियों को श्रीराम जन्मोत्सव की बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि कलियुग में भवसागर से पार उतरने के लिए राम का नाम ही एकमात्र आधार है इसीलिए रामलीला कमेटी अपने अथक प्रयासों से वर्ष पर्यन्त राम काज में रत रहती है। इससे पूर्व भजन, कीर्तन तथा पूजन कर रामलीला परिवार ने पंचपुरी के गणमान्य नागरिकों के साथ एक दूसरे को श्रीराम जन्म की बधाईयां दीं।
श्रीराम जन्मोत्सव को भक्तिभाव से परिपूर्ण बनाने में जिनका योगदान रहा उनमें प्रमुख थे गंगाशरण मददगार, कृष्णमूर्ति भट्ट, रविकान्त अग्रवाल, महाराज कृष्ण सेठ, भगवत शर्मा मुन्ना, सुनील भसीन, डां.संदीप कपूर, विनय सिंघल, रविन्द्र अग्रवाल, राकेश गोयल, कन्हैया खेवड़िया, राहुल वशिष्ठ, देवेंद्र चड्ढा, डा.रमेश खन्ना तथा दीपक आनन्द। श्रीरामलीला कमेटी के प्रवक्ता विनय सिंघल ने बताया कि 15 अप्रैल सोमवार को श्रीरामलीला भवन से भगवान श्रीराम के जन्मोत्सव की भव्य शोभायात्रा का आयोजन किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*