टिहरी लोस सीट पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष का नाम सबसे आगे

देहरादून। कांग्रेस से बड़ी संख्या में प्रमुख नेताओं के भाजपा में चले जाने के बाद सेकेंड लाइन के नेताओं के लिए यह चुनाव स्वर्णिम अवसर लेकर आया है। गढ़वाल और टिहरी सीट पर तो साफ साफ दिख रहा है कि सेकेंड लाइन के नेता ही भाजपा की चुनौती का सामना करेंगे। टिहरी सीट पर प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह का नाम तेजी से आगे बढ़ा है। प्रीतम भले ही पांच बार के विधायक और दो बार के कैबिनेट मंत्री रह चुके हों, लेकिन लोकसभा चुनाव के लिहाज से उनका कोई अनुभव नहीं है।
इसी तरह, टिहरी सीट पर दावेदारी कर रहे पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय की भी यही स्थिति है। वह प्रदेश सरकार में राज्य मंत्री रह चुके हैं, लेकिन लोकसभा का चुनाव कभी नहीं लड़ा है। गढ़वाल सीट को लें तो प्रमुख दावेदार पूर्व कैबिनेट मंत्री सुरेंद्र सिंह कई बार के विधायक और दो बार के मंत्री रह चुके हैं। एक बार लोकसभा का चुनाव भी लड़ चुके हैं। पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेंद्र भंडारी, पूर्व संसदीय सचिव गणेश गोदियाल, डिप्टी स्पीकर रह चुके एपी मैखुरी टिकट की दावेदारी तो कर रहे हैं, लेकिन लोकसभा चुनाव लड़ने के मामले में अनुभवी नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*