टिहरी लोकसभा सीट: भाजपा और कांग्रेस के बीच है मुख्य मुकाबला, 15 प्रत्याशी आजमा रहे भाग्य, मतदाता खामोश

देहरादून। टिहरी लोकसभा सीट का राजनीतिक मिजाज राष्ट्रीय पार्टियों के बीच और राष्ट्रीय मुद्दों की धुरी पर घूम रहा है। वैसे तो इस सीट पर 15 प्रत्याशी मैदान में है, लेकिन मुख्य मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच ही दिखाई पड़ रहा है। यहां मतदाता खामोश है, उसका यह मिजाज क्या गुल खिलाता है, नतीजे सामने आने पर ही इसका पता चलेगा। 

प्रत्याशी की बात करें तो इस सीट पर कांग्रेस की तरफ से प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह खुद मैदान में हैं, जबकि भाजपा ने टिहरी राजपरिवार से ताल्लुक रखने वाली मौजूदा सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह को एक बार फिर से मैदान में उतारा है। चुनावी रण में दोनों ने अपनी पूरी ताकत झोंकी हुई है, एक दूसरे के क्षेत्र में सेंध भी लगा रहे हैं। तीन जनपदों की 14 विधानसभाओं से मिलकर बनी टिहरी गढ़वाल लोकसभा सीट पर सामाजिक तानाबाना काफी रोचक है। जनसंख्या का आंकड़े पर गौर करे तो 2011 की जनगणना के अनुसार टिहरी गढ़वाल लोकसभा सीट की जनसंख्या 1923454 थी। इसमें 62 फीसद आबादी गांवों में निवास करती है, जबकि 38 फीसदी आबादी शहरी क्षेत्रों में निवास कर रही है।  इस इलाके में अनुसूचित जाति की जनसंख्या का आंकड़ा 17.15 फीसद है। जबकि अनुसूचित जनजाति की आबादी 5.8 फीसद है। मतदाताओं की स्थिति पर गौर करें तो 40 फीसद ठाकुर, 30 फीसद ब्राह्मण, 17 फीसद एससी व 5 फीसद एसटी व आठ फीसद अल्प संख्या व गोर्खाली मतदाता हैं। मतदाता का मिजाज स्थानीय मुद्दों से अधिक राष्ट्रीय मुद्दों पर केंद्रित रहा है। इसी कारण राजनीतिक दलों के सूरमाओं से लेकर स्टार प्रचारकों ने स्थानीय समस्याओं को मुद्दा नहीं बनाया। भले ही भावनात्मक रूप से जोडऩे का प्रयास प्रत्याशियों ने किया। मतदाताओं के बीच भी इस बार स्थानीय मुद्दे गौण ही दिखे। मतदाताओं के बीच भी एयर स्ट्राइक, राफेल, देश सुरक्षा, अफस्पा, राजद्रोह कानून, विदेश नीति और नेतृत्व सहित आदि मुद्दे हावी दिखे हैं। इन्हीं मुद्दों के आधार पर मतदाता प्रत्याशियों का आंकलन कर रहे हैं। टिहरी रियासत का आजादी के बाद भारत में विलय होने के बाद टिहरी गढ़वाल लोकसभा सीट पर चुनाव में राजशाही राजनीतिक की धुरी पर रही है। 10 आम चुनाव व एक उपचुनाव में राजशाही परिवार के सदस्य ही सांसद चुने गए। राजनीतिक दलों के हिसाब से देखे तो आठ  आम चुनाव व एक बार उप चुनाव में यह सीट कांग्रेस और छह  आम चुनाव व एक उप चुनाव में भाजपा जीती है। एक बार इस सीट पर जनता दल व एक बार निर्दल सांसद ने भी प्रतनिधित्व किया है।

 

टिहरी लोकसभा सीट पर एक नजर 

कुल विधानसभा- 14

कुल मतदाता: 1493524

पुरुष: 775603

महिला: 705533

सर्विस वोटर: 12329अन्‍य: 59

कुल उम्‍मीदवार: 15

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*