यहां गुफा के अंदर बहती है नदी, गुच्चू पानी: रॉबर्स केव की अनसुनी कहानी

देहरादून, गढ़ संवेदना संवाददाता। गुच्चू पानी रॉबर्स केव राजधानी देहरादून से लगभग 18 किलोमीटर दूर स्थित है। रॉबर्स केव यानी गुच्चू पानी के नाम से स्थित इस गुफा के बारे में आपने सुना होगा। इसके इतिहास और संस्कृति के बारे में भी बेहद रोचक कहानी है जो कि थोड़ी सी डरावनी भी है। आइए जानते हैं इससे जुड़ी वो कहानी जो बहुत कम लोग ही जानते हैं।
गुच्चू पानी एक अद्भुत गुफा है। यह लगभग 650 मीटर लंबी और काफी सक्रिय कहे जाने वाली अद्भुत गुफा डरावनी के साथ-साथ रहस्यपूर्ण भी है। कहने वालों का तो यह भी कहना है की अंग्रेजी शासन में जब डकैत डकैती करने जाते थे तो उसके बाद इसी गुफा में आकर छुप जाते थे।
यहां पर अंग्रेजी सेना पहुंच नहीं पाती थी क्योंकि इसके रहस्यपूर्ण रास्ते भी थे। जिसकी वजह से डकैत डकैती का सामान और खुद यहां से बच निकलने में कामयाब भी हो जाते थे लेकिन आज यह रहस्यमयी गुफा लोगों के लिए कौतूहल का विषय बनी हुई है। काफी संख्या में दूर-दूर से यहां पर पर्यटक आते हैं और इस गुफा में बहते झरने घुटनों से नीचे तक के पानी में अपना समय का आनंद ही नहीं बल्कि गर्मी से राहत भी पाते हैं। इस गुफा के चारों तरफ से पानी की धाराएं निकलती है और यह पानी इतना साफ और स्वच्छ है कि चांदी की तरह इस पानी में पत्थर भी चमकते रहते हैं। इस गुफा के बाहर निकलते साथ लोगों के खाने पीने के साथ-साथ तरह-तरह के मनोरंजन के भी इंतजामात यहां के लोगों ने अपनी रोजी-रोटी के माध्यम से जोड़ रखे हैं। कई उत्साहित पर्यटक झरने का आनंद भी उठाते हैं। लगभग 10 से 15 मीटर की ऊंचाई से गिरने वाला झरना बेहद ही अद्भुत दिखता है।

एक नदी जो बड़े बड़े चट्टानों के बीच से बहती है, एक अद्वितीय खूबसूरती का नज़ारा है। ठंडे ठंडे मौसम का मज़ा लेते हुए, घुटनों तक आने वाले पानी के नदी में सैर करना किसी रोमांचक सफ़र से कम नहीं है। पिकनिक का मज़ा लेने वालों के लिए डाकू गुफा देहरादून में किसी जन्नत से कम नहीं है। यहाँ के लोकल निवासियों का कहना है कि कई सालों पहले यह चोरों के छुपने की जगह हुआ करती थी, इसलिए इसका नाम डाकू गुफा पड़ गया। प्रकृति द्वारा ही बनी इस नदी और गुफा को यहाँ के  गुचुपानी के नाम से जाना जाता है। घने जंगलों और हरे भरे वातावरण के बीच कलात्मक आकर से बने ये चट्टानों के दीवार वीकेंड ट्रिप के लिए सबसे अच्छी जगह है। गुचुपानी दून की सुरम्य घाटी में बसा सबसे बहुमूल्य स्थान है। पानी की प्राकृतिक प्रवाह जो गुफा को दो हिस्सों में बाँटती, है अपने में ही एक अद्भुत दृश्य है। एक छोटे से किले की दीवार भी इसके दृश्य में शामिल हो इसकी खूबसूरती को और बढ़ाती है। इसमें बहता पानी का नज़ारा अत्यंत ही सुरम्य है। दिलचस्प बात यह है कि, किसी को भी नहीं पता यह  नदी कहाँ से बही चली आ रही है। बारिश के मौसम में पानी का प्रवाह भयंकर रूप ले लेता है और वहीं गर्मी के मौसम में बिल्कुल शांत रहता है। गुफा की अंधेरी और स्थानीय रचना को देखकर कल्पना की जा सकती है कि यह डाकुओं के छुपने की सबसे सही जगह हुआ करती होगी। यात्री अपना सबसे अच्छा और महत्वपूर्ण समय इस खूबसूरत रोमैंटिक जगह में शांति के साथ बिता सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*