किसान सभा ने किसानों की समस्याओं को लेकर किया सचिवालय कूच

देहरादून। अखिल भारतीय किसान सभा ने किसानों की विभिन्न समस्याओं को लेकर सचिवालय कूच किया। सचिवालय के बाहर रोके जाने पर उन्होंने जोरदार प्रदर्शन भी किया और केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। संगठन नेताओं ने आरोप लगाया कि देश में केंद्र सरकार की नीतियां किसान विरोधी हैं। कर्जमाफी, फसल का उचित दाम, आपदा के समय मुआवजा दिलाने समेत कई घोषणाएं की जाती रही, लेकिन धरातल पर किसान का बुरा हाल है।

अखिल भारतीय किसान सभा ने परेड मैदान से पश्चिम बंगाल से पूर्व लोकसभा सदस्य हन्नान मौल्लाह के नेतृत्व में सचिवालय कूच किया । नारेबाजी के साथ कूच कनक चैक होता हुआ सचिवालय तक पहुंचा। यहां पहले से तैनात पुलिसकर्मियों ने प्रदर्शनकारियों को रोक लिया। इसके बाद प्रदर्शनकारी सड़क पर ही धरने बैठ गए और करीब 40 मिनट तक प्रदर्शन किया। इसके बाद शासन की ओर से प्रतिनिधि मौके पर पहुंचे, जिन्हें किसानों की समस्याओं संबंधी मांग-पत्र सौंपा। इसके बाद प्रदर्शन खत्म किया गया। इससे पहले कचहरी रोड स्थित एक होटल में हुई पत्रकार वार्ता में पूर्व लोकसभा सदस्य हन्नान मौल्लाह ने कहा कि महंगाई बढ़ रही है, लेकिन किसानों को फसल का उचित दाम नहीं दिया जा रहा है। कृषि भूमि पर पूंजीपति कब्जा कर रहे हैं। किसान का बेटा खेती में भविष्य नहीं देख रहा है। यह विकट संकट की स्थिति है। प्रदर्शन में किसान सभा के प्रांतीय अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह सजवाण, महामंत्री गंगाधर नौटियाल, कोषाध्यक्ष शिव प्रसाद देवली, बृज सिंह समेत कई अन्य शामिल रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*