उत्तराखंड विधानसभा का शीतकालीन सत्र शुरू, महंगाई पर विपक्ष ने सरकार को घेरा

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा का शीतकालीन सत्र बुधवार को शुरू हुआ। सत्र के पहले दिन सदन में विपक्ष ने महंगाई को लेकर सरकार को जमकर घेरा। विपक्ष का कहना था कि सरकार महंगाई को नियंत्रित करने की दिशा में कोई ठोस उपाय नहीं कर रही है। बढ़ती महंगाई के चलते आम जनता परेशान है, लोगों के लिए दो टाइम की रोटी का प्रबंध करना भी मुश्किल हो रहा है।  
पूर्वाह्न 11.5 बजे सदन का शुभारंभ वंदेमातरम के साथ हुआ। इसके पश्चात स्पीकर प्रेमचंद अग्रवाल ने भाजपा से निष्कासित विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन को सत्तापक्ष के साथ नहीं, बल्कि असंबद्ध विधायक के रूप में अलग बैठेने की व्यवस्था दी। इस दौरान सदन को पिथौरागढ़ उपचुनाव में जीती भाजपा विधायक चंद्रा पंत के निर्वाचन की सूचना स्पीकर द्वारा दी गई। सदन की कार्यवाई शुरू होते ही विपक्ष ने महंगाई का मुद्दा उठा दिया। विपक्ष ने प्रश्नकाल रोककर इस मुददे पर नियम 310 के तहत चर्चा कराए जाने की मांग रखी। इस दौरान विपक्षी सदस्यों ने वेल में आकर हंगामा भी किया। इस पर स्पीकर ने नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश की महंगाई से सम्बंधित सूचना को नियम 58 में सुनने की व्यवस्था दी। उसके बाद प्रश्नकाल सुचारू रूप से चला। प्रश्नकाल के दौरान विपक्षी सदस्यों के साथ ही सत्ता पक्ष के सदस्यों ने भी सरकार को घेरने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। प्रश्नकाल के पश्चात महंगाई के मुद्दे पर नियम 58 के तहत चर्चा हुई। चर्चा शुरू करते हुए नेता प्रतिपक्ष डा इंदिरा ह्रदयेश ने कहा कि प्याज, रसोई गैस, दाल, पेट्रोल, डीजल के दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं। बढ़ती महंगाई के चलते गरीब आदमी के लिए दो टाइम के खाने की व्यवस्था करना भी मुश्किल हो गया है। सरकार महंगाई को नियंत्रित करने की दिशा में कोई कदम नहीं उठा रही है। चर्चा में प्रतिभाग करते हुए कांग्रेस विधायक प्रीतम सिंह ने कहा कि सरकार महंगाई को रोकने में नाकाम साबित हो रही है। सरकार की गलत नीतियों के कारण महंगाई बढ़ी है। प्याज 100 रूपये किलो पार हो गया है। दालों के दाम भी काफी बढ़ गए हैं। सरकार गरीब के मुंह से निवाला छीनने का कार्य कर रही है।   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*