इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय वन दिवस का विषय ‘वानिकी और शिक्षाः वनों से प्रेम करना सीखें’

देहरादून। भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद् पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, भारत सरकार की ओर से मंगलवार 19 मार्च को वन अनुसंधान संस्थान देहरादून में अंतराष्ट्रीय वन दिवस की मेजबानी की जा रही है। सभी प्रकार के वनों के मूल्यों, महत्व और योगदान के बारे में सार्वजनिक जागरूकता बढ़ाने के लिए, अंतर्राष्ट्रीय वन दिवस ’हर साल 21 मार्च को दुनिया भर में मनाया जाता है। इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय वन दिवस का विषय वानिकी और शिक्षाः वनों से प्रेम करना सीखें’ है जिसका उद्ेश्य सत्त वन प्रबंधन और जैव विविधता संरक्षण के लक्ष्यों को प्राप्त करने में सभी स्तरों पर शिक्षा के महत्व को बढावा देना है। कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्य अतिथि सी0 के मिश्रा, सचिव, पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा की जाएगी। प्रसिद्व पर्यावरणविद् और मुख्य वक्ता पदम् भूषण चंडी प्रसाद भट्ट मुख्य वक्ता होंगे।
 पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, की संस्थाएं जैसे आई0सी0एफ0आर0ई, एफ0आर0आई, आई0जी0एन0एफ0ए0, वन षिक्षा निदेषालय (डी0एफ0ई0), कैसफोस, एफ0एस0आई0 डब्ल्यू0आई0आई0, बी0एस0आई0, जेड0एस0आई0, मंत्रालय का देहरादून स्थित क्षेत्रीय कार्यालय और आई0आई0एफ0एम0 भोपाल कार्यक्रम में सम्मिलित होंगी। उत्तराखण्ड वन विभाग और केन्द्रीय विद्यालय संगठन देहरादून भी कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगे। अर्तराष्ट्रीय वन दिवस के अवसर पर देहरादून स्थित केन्द्रीय और नवोदय विद्यालयों के छात्रों के लिए चित्रकला और निबंध प्रतियोगिता, विभिन्न वानिकी संस्थाओं के लिए फोटोग्राफी प्रतियोगिता और एफ0आर0आई0 सम विष्वविद्यालयों के छात्रों के लिए वादविवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है। वानिकी में उत्कृष्टता के लिए आई0सी0एफ0आर0ई0 उत्कृटता पुरस्कार के साथ, इन प्रतियोगिताओं के विजेताओं को भी इस समारोह में पुरस्कृत किया जाएगा। दो प्रकाशनों-’काॅफी टेबल बुक आॅन बायोडायवर्सिटी आॅफ न्यू फाॅरेस्ट कैम्पस’ तथा ’कम्पाइल्ड प्रोफाईल आॅफ आई0सी0एफ0आर0ई0 साईन्टिस्टस’ का विमोचन भी किया जाएगा। इस अवसर पर गैर सरकारी संरकारी संगठनों और सरकार द्वारा प्रचारित वन उत्पादों, पर्यावरण के अनुकूल प्रौद्योगिकियों, प्रकाषनों, कलाकृतियों, जैविक उत्पादों और अन्य आजीविका विकल्पों का प्रदर्शन करने के लिए एक प्रदर्षनी का मैंगो ग्रोव में सुबह 10.15 बजे से शाम 4.30 बजे तक आयोजन किया जा रहा है।2019 के इस अंतर्राष्ट्रीय वन दिवस के अवसर पर प्रतिष्ठित गणमान्य व्यक्तियों द्वारा एफ0आर0आई0 के वनस्पति वाटिका में वृक्षारोपण भी किया जाएगा। भारत में आई0सी0एफ0आर0ई, आई0सी0ए0आर0 तथा केन्द्रीय और राज्य कृषि विष्वविद्यालयों द्वारा वन षिक्षा प्रदान की जाती है। आई0सी0एफ0आर0ई0 द्वारा मान्यता प्राप्त 21 विष्वविद्यालय हैं, जिनके द्वारा स्नातक, स्नात्कोत्तर और डाॅक्ट्रल स्तर पर वानिकी के विभिन्न कार्यक्रम चलाए जाते हैं। एफ0आर0आई0 सम विश्वविद्यालय भी वानिकी में स्नातकोत्तर और डाॅक्ट्रल स्तर पर विभिन्न कार्यक्रम संचालित करता है। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी (आई0जी0एन0एफ0ए0) और वन शिक्षा निदेशालय, देहरादून जिसके अंतर्गत देष के विभिन्न भागों में राज्य वन सेवा के लिए तीन केन्द्रीय अकादमी, वन षिक्षा के लिए केन्द्रीय अकादमी और राज्य सरकारें के अधीन छः रेंजर्स काॅलेज हैं, के द्वारा वानिकी में प्रषिक्षण प्रदान किया जाता है।
——————————————————————

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*