इन्द्रप्रस्थ अपोलो हाॅस्पिटल ने लोगों को क्रिटिकल केयर सेवाओं के बारे में जागरुक किया 

देहरादून। स्वस्थ रहने की आवश्यकता पर जोर देते हुए इन्द्रप्रस्थ अपोलो होस्पिटल्स दिल्ली ने देहरादून में अपोलो दिवस का आयोजन किया। एक जिम्मेदार स्वास्थ्य सेवा प्रदाता होने के नाते रोग प्रबंधन के लिए आधुनिक उपचार, थेरेपी, मोनिटरिंग और डायग्नोस्टिक तकनीक की आवश्यकता और महत्व पर जोर देना इन्द्रप्रस्थ अपोलो होस्पिटल्स का मुख्य उद्देश्य है। आज जीवनशैली से जुड़ी बीमारियां जैसे कार्डियोवैस्कुलर रोग, मधुमेह, उच्चरक्तचाप, अस्थम, सांस संबंधी रोग और कैंसर आदि तेजी से बढ़ रहे हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक भारत में मधुमेह के रोगियों की संख्या 50.8 मिलियन के अधिकतम आंकड़े पर हैं।
 इन्द्रप्रस्थ अपोलो होस्पिटल्स ने लोगों को क्रिटिकल केयर सेवाओं के बारे में जागरुक बनाने के लिए अपोलो दिवस का आयोजन किया। क्रिटिकल केयर के तहत आने वाली सेवाएं मरीजों को जानलेवा स्थितियों में तुंरत इलाज प्रदान करती हैं, खासतौर पर वाइटल सिस्टम ओर्गेन फेलियर के मामले में ये बेहद महत्वपूर्ण होती हैं। विशेषज्ञों और डॉक्टरों ने सुझाव दिया कि रोकथाम इलाज से बेहतर है, उन्होंने बताया कि जागरुकता रोकथाम की दिशा में पहला महत्वपूर्ण कदम है। राजपुर रोड स्थित एक होटल में आयोजित जागरूकता कार्यक्रम के दौरान पी शिवकुमार, मैनेजिंग डायरेक्टर, इन्द्रप्रस्थ अपोलो होस्पिटल्स ने कहा, ‘‘आमतौर पर हम रोजमर्रा की भागदौड़ में अपने स्वास्थ्य की उपेक्षा करते हैं। स्वस्थ जीवनशैली एवं नियमित व्यायाम आज समय की मांग बन चुके हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए हमने अपोलो दिवस मनाने का फैसला लिया, ताकि आमलोगों को स्वस्थ जीवनशैली के महत्व पर जागरुक बनाया जा सके।’‘मुझे खुशी है कि सभी आयु वर्गों के लोगों ने कार्यक्रम में बढ़चढ़कर हिस्सा लिया। स्वस्थ जीवनशैली को बढ़ावा देने के हमारे दृष्टिकोण के अनुरूप हम आने वाले समय में ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन जारी रखेंगे।’
डॉ अनुपम सिब्बल ग्रुप मेडिकल डायरेक्टर, सीनियर कन्सलटेन्ट, पीडिएट्रिक गैस्ट्रोएंट्रोलोजी एण्ड हेपेटोलोजी, इन्द्रप्रस्थ अपोलो होस्पिटल्स ने कहा, ‘‘सत्र के दौरान ऐसे मरीजों की समग्र देखभाल के महत्व पर जोर दिया गया जो जानलेवा परिस्थितियों से जूझ रहे हों, और जिन्हें व्यापक देखभाल और मोनिटरिंग की जरूरत हो, इस तरह की देखभाल इन्टेन्सिव केयर युनिट में दी जाती है। भारत में पिछले दशक में क्रिटिकल केयर प्रथाओं में तेजी से बदलाव आए हैं। दो दशक पहले तक आईसीयू मैनेजमेन्ट में संरचित प्रशिक्षण प्रोग्राम का अभाव था। लेकिन अब 15-20 फीसदी बैड्स इन्टेन्सिव केयर को समर्पित किए जा चुके हैं, जो आधुनिक सुविधाओं से युक्त हैं।’
इन्द्रप्रस्थ अपोलो होस्पिटल्स उच्च गुणवत्ता की चिकित्सकीय देखभाल, आधुनिक चिकित्सा तकनीकों और आधुनिक बुनियादी सेवाओं के साथ मरीजों को उत्कृष्ट सेवाओं का अनुभव प्रदान करता है। इन्द्रप्रस्थ अपोलो होस्पिटल्स हमेशा से मरीजों के स्वास्थ्य और सशक्त जीवनशैली को समर्थन देता रहा है। अपने अनुभवी विशेषज्ञों और चिकित्सा पेशेवरों की टीम के साथ इन्द्रप्रस्थ अपोलो होस्पिटल्स मरीजों को विश्वस्तरीय उपचार एवं देखभाल उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*