आदमखोर गुलदार ने जंगल में घास लेने गए सतनी गांव के मदन बिष्ट को बनाया शिकार 

 -ग्रामीणों में वन विभाग और जिला प्रशासन के खिलाफ आक्रोश 
रुद्रप्रयाग। पहाड़ों में जंगली जानवरों का आतंक थमने का नाम नाम नहीं ले रहा है। हालत ऐसे हैं कि दिनदहाड़े ही गुलदार लोगों पर हमला कर उन्हें मौत के घाट उतार रहा है और वन महकमा है कि चैन की नींद सोया हुआ है। ग्रामीण कई बार वन महकमे को गुलदार को पकड़ने की मांग कर चुके हैं, लेकिन उनकी कोई सुनने वाला नहीं है। ताजा मामला जिले के जखोली विकासखंड के सतनी गांव का है, जहां जंगल में घास लेने गये एक 55 साल के अधेड़ व्यक्ति को घात लगाए गुलदार ने अपना शिकार बना दिया। आस पास और कोई ना होने के कारण गुलदार ने व्यक्ति को जान से मार डाला। कहीं देर बाद पर परिजनों की खोजबीन पर घटना की जानकारी मिल पाई। 
दरअसल, जखोली विकासखण्ड के सतनी गांव के मदन सिंह बिष्ट गाड़ पार नामक थोक में घास लेने गए थे। इस दौरान अचानक गुलदार ने मदन सिंह पर हमला कर उन्हें जान से मार दिया। घटना से पूरे गांव में शोक का माहौल है और लोगों का वन विभाग के प्रति भारी आक्रोश बना है। घटना की जानकारी देने पर वन विभाग और जिला प्रशासन गांव में गया। पूर्व जिला पंचायत सदस्य श्रीमती आशा डिमरी एवं पंचम सिंह रावत ने कहा कि क्षेत्र में गुलदार का आतंक बना हुआ है, जिसकी जानकारी पहले ही वन विभाग को दी गई थी। लेकिन वन महकमे ने कोई कार्यवाही नहीं की। गुलदार ने अब एक व्यक्ति को अपना शिकार बना दिया है। ऐसे में ग्रामीण जनता में वन विभाग के खिलाफ भारी आक्रोश बना हुआ है। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि जल्द ही क्षेत्र में आदमखोर गुलदार को पकड़ने के लिए पिंजरा लगाया जाय। साथ ही पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद के रूप में मुआवजा राशि दी जाय। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*