आईआईएफएल फाइनेंस ने मनाया दीवाली का जश्न

देहरादून। भारत की सबसे बड़ी नॉन-बैंकिंग फाईनेंस कंपनियों में से एक आईआईएफएल फाईनेंस ने आईआईएफएल फाउंडेशन के साथ अपनी शाखाओं के विस्तृत नेटवर्क पर ‘मिलन’ के बैनर तले विविध सामुदायिक गतिविधियां आयोजित कीं। ये गतिविधियां समुदायों पर सकारात्मक प्रभाव डालती हैं और स्थानीय समुदायों व समाज को अपना योगदान देने के आईआईएफएल के मिशन का हिस्सा हैं।
आईआईएफएल पर हमारा मानना है कि सभी त्योहार एवं अवसरों को जिम्मेदारी के साथ मनाया जाना चाहिए। 19 अक्टूबर को आईआईएफएल फाईनेंस की 1000 से ज्यादा शाखाओं पर ‘दीवाली खुशियों वाली’ का आयोजन किया गया तथा परिवार के सभी सदस्यों को ईको-फ्रेंडली दियों व सजावट के सामान के साथ दीवाली मनाने का प्रोत्साहन दिया गया। लगभग 17,200 लोग आईआईएफएल शाखाओं की इन ईवेंट्स में सम्मिलित हुए तथा दिया व कलश की पेंटिंग के साथ बेकार कागजों से कंडील बनाना सीखा। इस गतिविधियों के साथ उन्होंने निवेश की जरूरत एवं बेसिक मनी मैनेजमेंट की तकनीकों के बारे में चर्चा की, ताकि उनका भविष्य उज्जवल बने। आनंद माथुर, प्रेसिडेंट ह्यूमन रिसोर्सेस ने कहा, ‘‘दीवाली भारत का एक महत्वपूर्ण त्योहार है, जो हम सभी से जुड़ा है। इसलिए हमने अपने ग्राहकों के साथ दीवाली पूर्व जश्न मनाने का निर्णय लिया। यह जश्न हमने पर्यावरण का ख्याल रखते हुए जिम्मेदार तरीके से मनाया। ‘दीवाली खुशियों वाली’ ने नागरिकों को सजावट के ईको-फ्रेंडली सामान के साथ दीवाली मनाने तथा उज्जवल भविष्य के लिए निवेश करने का प्रोत्साहन दिया।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*