अप्रैल माह के प्रथम पखवाड़े को नामांकन पखवाड़े के रुप में मनायेगा शिक्षा विभाग 

देहरादून। प्रदेश के राजकीय तथा सहायता प्राप्त विद्यालयो में नामांकन बढाने तथा इस हेतु आम जनमानस को जागृत करने के लिये शिक्षा विभाग एवं सभी शिक्षक संगठन माह अप्रैल के प्रथम पखवाड़े को नामांकन पखवाड़े के रुप में मनायेंगे। इस हेतु आज सीमा जौनसारी, निदेशक, अकादमिक शोध एवं प्रशिक्षण के द्वारा राजकीय शिक्षक संघ, राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ, जूनियर हाई स्कूल शिक्षक संघ तथा माध्यमिक शिक्षा प्रधानाचार्य परिषद् के प्रांतीय पदाधिकारियों के साथ विचार विमर्श किया गया। जिसमें सभी शिक्षक संगठनों ने इस कार्यक्रम में सहयोग देने तथा सफल बनाने के लिये रणनीति तैयार की। इसके अन्तर्गत 01 अप्रैल 2019 से 16 अप्रैल 2019 तक सभी विद्यालयों में नामांकन पखवाड़ा मनाया जायेगा। इस हेतु प्रत्येक विद्यालय में सिद्धांत वाक्य ’’राजकीय विद्यालय-मेरा गौरव’’ को प्रचारित किया जायेगा। 
प्रत्येक विद्यालय इस स्लोगन के साथ अपने प्रवेश द्वार पर नामांकन के लिये बैनर के माध्यम से सरकारी विद्यालयों की विशेषताओं को प्रचारित करेगा। इस दौरान सभी शिक्षक अपने आस-पास की बस्तियों में घर-घर सम्पर्क कर बच्चों को सरकारी विद्यालयों में प्रवेश लेने के लिये प्रोत्साहित करेंगे। प्रत्येक विद्यालय अपने सेवित क्षेत्र के आंगनबाड़ी केन्द्र, कक्षा 5 व कक्षा 8 में उत्तीर्ण होने वाले बच्चों की सूची तैयार की जायेगी तथा उनके अभिभावकों से सम्पर्क कर उन्हें प्रवेश हेतु प्रोत्साहित करेंगे। 16 अप्रैल 2019 को प्रत्येक विद्यालय में प्रवेशोत्सव मनाया जायेगा। इस दिन नये प्रवेश वाले बच्चों तथा उनके अभिभावकों का अध्यापकों एवं ग्राम शिक्षा समिति के सदस्यों तथा शिक्षाधिकारियों द्वारा स्वागत किया जायेगा।
विद्यालय में बच्चों के नामांकन के साथ-साथ शिक्षा की गुणवत्ता बढाने के लिये माह अप्रैल से जून 2019 तक मिशन कोशिश कार्यक्रम संचालित किया जायेगा जिसमें शिक्षक प्रत्येक बच्चे को उसकी पूर्व कक्षा में कम सम्प्राप्ति वाले सम्बोधों पर उपचारात्मक शिक्षण करेंगे। साथ ही प्रत्येक बच्चे को मूलभूत भाषायी दक्षताओं- सुनना, बोलना, पढ़ना व लिखना के साथ-साथ मूल गणितीय संक्रियाओं जोड़, घटाना, गुणा व भाग में दक्ष किया जायेगा। आगामी वर्ष से विद्यालयों में बच्चों को प्रतिदिन बाल सुलभ तथा सहज वातावरण उपलब्ध कराने के लिये प्रार्थना के पश्चात् एक वादन तनाव मुक्त तथा जीवन मूल्यों पर आधारित क्रियाकलाप (संजीवनी) प्रारम्भ किया जायेगा। जिसका पाठ्यक्रम निदेशालय अकादमिक शोध एवं प्रशिक्षण द्वारा शिक्षक संगठनों के सहयोग से तैयार किया जा रहा है। निदेशालय अकादमिक शोध एवं प्रशिक्षण की इस पहल का सभी शिक्षक संगठनों के पदाधिकारियों ने सराहना करते हुए ऐसी बैठक हर तिमाही में आयोजित करने की अपेक्षा की। जिस पर निदेशक द्वारा सहमति व्यक्त की गयी। बैठक में सीमैट से शशि चौधरी, एस0बी0 जोशी, डाॅ0 मोहन बिष्ट, डाॅ0 मदन उनियाल, डाॅ0 जगमोहन बिष्ट, डाॅ0 विनोद ध्यानी, एस0सी0ई0आर0टी0 अपर निदेशक अजय नौडियाल, कंचन देवराड़ी, प्रदीप रावत, प्राथमिक शिक्षक संघ प्रदेश अध्यक्ष दिग्विजय चैहान, महामंत्री नन्दन सिंह रावत, कोषाध्यक्ष जनक सिंह राणा, जूनियर हाई स्कूल शिक्षक संघ प्रदेश अध्यक्ष विनोद थापा, महामंत्री राजेेन्द्र प्रसाद बहुगुणा, राजकीय शिक्षक संघ प्रांतीय महामंत्री डाॅ0 सोहन मांजिला तथा प्र्रधानाचार्य परिषद् माध्यमिक शिक्षा प्रांतीय अध्यक्ष प्रकाश चन्द्र सुयाल ने प्रतिभाग किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*