अतिवृष्टि के चलते रवांईखाल क्षेत्र में घरों में घुसा मलबा, दहशत में महिला हुई बेहोश  

बागेश्वर। अतिवृष्टि से रवांईखाल क्षेत्र में दहशत मच गई और घरों में मलबा घुस गया। बरसाती नाला एक घर की तरफ बढ़ने लगा, जिसे देख महिला बेहोश हो गई, उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं सड़क के मलबे से आधा दर्जन घरों में पानी घुस गया है और करीब दस नाली भूमि में तैयार गेहूं की फसल मलबे से पट गई है। लोगों का कहना है कि पिछले दस सालों में इस तरह की बारिश हुई है, जिससे वे दहशत में आ गए हैं।
बुधवार को दोपहर बाद हुई अतिवृष्टि से रवांईखाल क्षेत्र में व्यापक नुकसान हुआ है। तालड़ को निर्माणाधीन मोटर मार्ग ने नाले का रूप ले लिया। रवांईखाल निवासी दीवान राम के घर की तरफ नाला बढ़ने लगा और साथ में बोल्डर आदि भी आने लगे। जिससे उनकी 32 वर्षीय पत्नी धना देवी दहशत में आ गई और बेहोश हो गई। उसे स्थानीय प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनके घर और आंगन में मलबा, बोल्डर, पत्थर और मिट्टी भर गई है। जबकि ग्राम प्रधान बहादुर सिंह रावत, ललित पांडे के मकान, छत और आंगन मलबे से पट गए हैं। इंटर कालेज के पीछे भी भारी मात्रा में मलबा भर गया है। दिगोली सेरा में करीब दस नाली भूमि में तैयार गेहूं की फसल भी दबकर नष्ट हो गई है। सामाजिक कार्यकर्ता विपिन जोशी ने बताया कि इस तरह की बारिश पिछले दस सालों में पहली बार हुई है, जिससे लोग दहशत में आ गए हैं। इधर, आपदा अधिकारी शिखा सुयाल ने बताया कि नुकसान की जानकारी जुटाई जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*