अटारी-बाघा बॉर्डर पर अभिनंदन के अभिनंदन में उमड़ पड़ा जनसैलाब

नई दिल्ली। पाकिस्तान आर्मी की ओर से बंदी बनाए गए भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान के स्वागत में भारत-पाकिस्तान की अटारी-वाघा बॉर्डर पर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। अटारी-बाघा बॉर्डर पर सुबह से ही हजारों लोग विंग कमांडर अभिनंदन के लौटने का बेसब्री से इंतजार करते रहे।

पाकिस्तानी रेंजर्स ने अपनी तरफ का गेट खोला और इधर बीएसएफ ने भी पाकिस्तान की ओर जाने वाला गेट खोल दिया। इधर स्टैंड्स तक लोगों को पहुंचने नहीं दिया गया था। भारत की ओर से बीटिंग रिट्रीट को कैंसिल कर दिया गया था, लेकिन पाकिस्तान ने अपनी ओर बीटिंग रिट्रीट का आयोजन किया। स्टैंड्स से बाहर हजारों लोग मौजूद थे और पूरे वातावरण में अभिनंदन…अभिनंदन’, ‘वंदे मातरम’ और ‘भारत माता की जय’ के नारे गूंज उठे। हर किसी की नजरें जीटी रोड पर पाकिस्तान की ओर टिकी हुई थीं। उधर से भारतीय गाड़ी में सीना ताने विंग कमांडर अभिनंदन आते नजर आए तो जनता का जोश और हिलोरे मारने लगा। विंग कमांडर अभिनंदन ने जैसे ही भारतीय धरती पर कदम रखा वैसे ही लोगों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। बैक ग्राउंड में भारत माता की जय के नारे गूंज रहे थे। देशभक्ति के गाने लोगों में जोश भरने का काम कर रहे थे। हो भी क्यों न! देश का एक सपूत एक ऐसे देश से सुरक्षित लौटकर आ रहा था, जिसे आमतौर पर दुश्मन की नजर से देखा जाता है। यही नहीं युद्धबंदियों को लेकर पाकिस्तान का रिकॉर्ड भी अच्छा नहीं रहा है।

अभिनंदन के अभिनंदन के लिए वाघा बॉर्डर पर हजारों लोग मौजूद थे। इसके अलावा देशभर में उनके सुरक्षित लौट आने के लिए दुआएं होती रहीं। पाकिस्तान के एक-एक कदम पर नजर रखी जा रही थी। ऐसे में हर किसी को अभिनंदन के वापस लौट आने की उम्मीद तो थी, लेकिन पाकिस्तान पर भरोसा कम होने के कारण आशंका भी बनी हुई थी। खैर जैसे ही अभिनंदन ने हिंदुस्तान की धरती पर कदम रखा, वैसे ही हर तरफ खुशी की लहर दौड़ पड़ी। खुद अभिनंदन की खुशी का भी कोई ठिकाना नहीं रहा। भारतीय जमीन पर पहुंचते ही झुकते हुए धरती मां को चूमकर इस वीर सपूत ने शुक्रिया किया। तीन दिन तक पाकिस्तान की गिरफ्त में रहने के बाद अभिनंदन वापस लौटे तो जैसे हर किसी ने राहत की सांस ली। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*